hindi poem granthi/डॉ० सम्पूर्णानंद मिश्र

ग्रंथि (hindi poem granthi) बहुत छोटा शब्द है लेकिन प्रभाव मारक होता है भर लेती है विष, ग्रंथि अपने भीतर और जिस घर में बैठ जाती है खोखला कर देती … Read More

Nirala Poem /सीताराम चौहान पथिक

निराला की पुण्यतिधि पर सीताराम चौहान पथिक के द्वारा रचित कुछ पंक्तियां महाकवि को समर्पित है। “दुःख ही जीवन की कथा रही, क्या कहूं आज, जो नहीं कही” ‌ सरोज … Read More

Best Nazm of Savita Chadha/एक सोच और कलम का सम्मान

एक सोच (Best Nazm of Savita Chadha) प्रतिदिन चाहती हूं सुखों के फूल अपने गमलों में, उन्हें ही देख मैं सांस ले सकती हूं, मुझे सुखों के फूल बहुत पसंद … Read More

Nari shakti par kavita/अखिलेश प्रताप सिंह

“भारत की माताएं” (nari shakti par kavita) “भारत” – “भारत की माताओं” को, दिल से करूं प्रणाम, अपने- अपने पूत्रों की खातिर, कर गई अचरज काम ।।   लक्ष्मी बाई … Read More

ghar aur makaan hindi kavita /सीताराम चौहान पथिक

घर और मकान  (ghar aur makaan hindi kavita) घर मकान कब बन गया , भनक   पड़ी नहिं कान । चूना   पत्थर ईंट मिलि , चुरा    ले    गए   शान … Read More

aansu hindi poem/वेदिका श्रीवास्तव

आंसू (aansu hindi poem) बह  जाते  हैँ  जाने  कैसे छोटी  छोटी  बातों  पर, शब्दों  को पढ़  लेना  आसान पर आंसू  होते  बेजबान, बादल    से हैं  छा  जाते प्यारी  – प्यारी  … Read More

mera jeevan/डॉ.सन्तोष कुमार विश्वकर्मा

मेरा जीवन (mera jeevan) मेरा जीवन शान्त उपवन की तरह। अनेक फूलों, फलों, पक्षियों की तरह। महकता रहा, उड़ता रहा, विचरता रहा। रंगीन, सूनसान, हसीन, गलियों में। पतझड़ों, बाजारों, अनसूने, … Read More

daree huee praja/डॉ० सम्पूर्णानंद मिश्र

डरी हुई प्रजा (daree huee praja) राजा था वह डराता था प्रजा को बहुत शोषक था वह भयाक्रांत थे शोषित उससे प्रशासन की बागडोर भी संभाली थी उसने अधीनस्थ कर्मचारियों … Read More

स्व गोपाल दास नीरज  कवि पर आधारित अष्ट दोहे

 गोपाल दास नीरज जी को भावांजलि ।। स्व गोपाल दास नीरज  कवि पर आधारित अष्ट दोहे नीरज-नीरज ही रहे , सदा     पंक      से दूर । मधुरिम गीतों … Read More

kuchh log khud ko maseeha banae phirate hain/ग़ज़ल

कुछ लोग ख़ुद को मसीहा बनाए फिरते हैं। (kuchh log khud ko maseeha banae phirate hain) कुछ लोग ख़ुद को मसीहा बनाए फिरते हैं। न जाने कौन सा क़िस्सा सुनाए … Read More

short bal kavita in hindi /सीताराम चौहान पथिक

मैया ला दे मुझे बांसुरी । बाल – कविता (short bal kavita in hindi) मैया   ला   दे मुझे बांसुरी , मैं   मोहन   बन जाऊंगा । होंठों से नित लगा बांसुरी  … Read More

sadak suraksha yatayat par kavita/दया शंकर

sadak suraksha yatayat par kavita:  सड़क सुरक्षा यातायात माह  एक अभियान है जहाँ पर  सड़क  पर  दुर्घटना को कैसे रोका जाये इसके  प्रति आम जन को जागरूक किया जाता है … Read More

basant panchami geet in hindi/प्रदीप त्रिवेदी दीप

बसंत गीत (basant panchami geet in hindi) बसंत आया बसंत आया जीवन में हरियाली लाया। कोहरे    को   है दूर भगाया सब पेड़ों पर फूल खिलाया। पुलकित मन मेरा हर्षाया … Read More

hindi kavita amar prem /सीताराम चौहान पथिक

अमर प्रेम ।। (hindi kavita amar prem ) मैं    तुम्हारे   हॄदय की , इक  अनसुनी आवाज हूं । गीत     जो    पूरा ना हुआ , टूटा   हुआ   वह  … Read More

hindi kavita smrtiyaan/डॉ० सम्पूर्णानंद मिश्र

स्मृतियां (hindi kavita smrtiyaan) रह गईं केवल स्मृतियां उस दालान और घूरे की जहां बचपन में हम लोग छुपते थे आइस- पाइस खेलते थे साथी को ढूंढ़ने का एहसास कुबेर … Read More