शहीदों को नमन | सीताराम चौहान पथिक

शहीदों को नमन | सीताराम चौहान पथिक दीपक स्वयं निरंतर जल करदेता दिव्य प्रकाश ।सैनिक सीमाओं पर लड़ता,राष्ट्र को देता आत्म विश्वास । दोनों का यह आत्म विश्वास,दिवाली समॄद्ध तभी … Read More

फूल पर हिंदी कविता | नरेन्द्र सिंह बघेल

फूल पर हिंदी कविता | नरेन्द्र सिंह बघेल फूल फूल एक खुशबू है एक मिठास है,फूल अपनेपन का ,एक नरम सा एहसास है ।फूल प्रेम की भाषा है ,प्रेम का … Read More

श्रवण कुमार पांडेय पथिक का रचना संसार

श्रवण कुमार पांडेय पथिक का रचना संसार सरेआम बाला को छेडा सरेआम बाला को छेडा,सिर जूतों की रेल चली,कभी गाल कभी सिर सहलाएं,मार खा रहे हैं दिलफेंक अली,,,,।दिल फेंक अली,दिल … Read More

मुझे जीना है | अरदास | रश्मि लहर

मुझे जीना है | अरदास | रश्मि लहर ‘मुझे जीना है’ मुझे पता है..छूट जाना है ये जग!पक्षियों की गुंजित सीये खिलखिलाहटये इंतजार करते पथ!नेह सहेजते पथिक..स्वप्न दिखाते श्रमिककिसानों के..आसमान … Read More

श्रवण कुमार पांडेय पथिक की सीडीएस विपिन रावत पर कविता | Shravan kumar pandey pathik poem on cds vipin rawat

श्रवण कुमार पांडेय पथिक की सीडीएस विपिन रावत पर कविता | Shravan kumar pandey pathik poem on cds vipin rawat १. शूरवीर कभी भी मरते नही यह भारतवर्ष है,यहाँ शूरवीर … Read More

डॉ. चक्रधर नलिन का जीवन परिचय | Biography of Dr. Chakradhar Nalin

डॉ. चक्रधर नलिन का जीवन परिचय | Biography of Dr. Chakradhar Nalin सुप्रसिद्ध कवि , लेखक , बाल साहित्यकार एवं हिंदी सेवी डॉ. चक्रधर नलिन की स्मृति एवं अनवरत रचनाधर्मिता … Read More

जागरण गीत | सजल | हरिश्चन्द्र त्रिपाठी’हरीश’

जागरण गीत अब तो तू उठ जाग,भला क्यों सोया है ,चिन्तन कर सौ बार,कहॉ क्या खोया है।टेक। कण-कण रक्त सनी यह धरती,गुम सुम गंगा – जमुना बहती ।तरु-तर में आक्रोश … Read More

चिपकी मलाई | सम्पूर्णानंद मिश्र

चिपकी मलाई | सम्पूर्णानंद मिश्र होनी चाहिए भाषा मीठीक्योंकिभाषा बांधती हैआकृष्ट करती है सबकोभाषा का माधुर्यआईना दिखाती हैहमारे संस्कारों कालेकिनअतिशय मीठी भाषा हमेंलक्ष्य से भटका देती हैदरअसलजब मीठी भाषासजती, संवरती … Read More

मीन और मीनाक्षी | सीताराम चौहान पथिक

मीन और मीनाक्षी | सीताराम चौहान पथिक मीन :मैं मीन तू मीनाक्षी ,संतुष्ट मै तू क्यों नहीं ॽसमझी, तू महत्वाकांक्षी।बैठ मेरे पास हे मीनाक्षी । मेरा निलय जल-कुंड ,मैं संतुष्ट … Read More

तेरी सुधि की अमराई से | हिंदी कविता | हरिश्चन्द्र त्रिपाठी’ हरीश

तेरी सुधि की अमराई से | हिंदी कविता | हरिश्चन्द्र त्रिपाठी’ हरीश तेरी सुधि की अमराई से तेरी सुधि की अमराई से,मलय सुरभि ले आता है।मेरी उखड़ी सॉसों को प्रिय,सन्देश … Read More

आधार छंद वंशस्थ | बाबा कल्पनेश | हिंदी गीत

आधार छंद वंशस्थ | बाबा कल्पनेश | हिंदी गीत आधार छंद-वंशस्थ उषा प्रभा गान करे सुना करो।जगी रहो और सदा गुना करो।। प्रिये सदा प्रेम भरी रहा करो।द्वेष भरे भाव … Read More

तीन बाल कविताएं | baal kavita in hindi

तीन बाल कविताएं | baal kavita in hindi १. बेचारा छात्र नीचे स्वाटर ऊपर स्वाटर , बीच    में    कमीज़    । टाई  सीधी   बांध     ले  , सीख   ले      तमीज    ।। … Read More

चलो गगन में तितली बनकर । Hindi Poem for Kids

चलो गगन में तितली बनकर । Hindi Poem for Kids चलो गगन में तितली बनकर,दूर घूम कर आयें हम ।देखें कितनी सुन्दर दुनिया,शाम ढ़ले घर आयें हम।टेक। बड़ा अजूबा लगता … Read More

श्रवण कुमार पांडेय पथिक फतेहपुर की हिंदी कविता

मुक्तक एक कदम तुम भी चलो एक कदम हम भी चलें,आस्था भरे पग धरो इन्तजार मे हैं मंजिलें – श्रवण कुमार पांडेय पथिक फतेहपुर श्रवण कुमार पांडेय पथिक फतेहपुर की … Read More

कोई कली बगिया में जब खिलने को होती है / वेदिका श्रीवास्तव

कोई कली बगिया में जब खिलने को होती है कोई कली बगिया में जब खिलने,को होती है,बगिया को महकाएगी ये आस लिए होती है ,नाजुक सी प्यारी सी उपवन में,कितनी,सुन्दर … Read More