विश्व हिन्दी दिवस पर कविता

विश्व हिन्दी दिवस

विश्व हिन्दी दिवस की ,
शत-शत बधाई आपको ।
विश्व- पट हिंदी सुशोभित ,
शत-शत बधाई आपको ।।

परदेस में बैठे हमारे ,
भारतीयों को सलाम ।
जिनके दम पर हिंदी शोभित,
उन सूरमाओं को सलाम ।।

सऺपूर्ण जग में तॄतीय हिंदी ,
भाषियों का स्वागतम् ।
यह देश उनका ऋणी है ,
रहेगा ऋणी – सु स्वागतम्।।

खेद जीवन भर रहेगा ,
स्वदेश में हिंदी अनादॄत ।
ढोल पीटे जा रहे हैं ,
हिंदी घर में ही पराश्रित ।।

लोकतंत्र में देखो भैया ,
अपनी डफ़ली अपना राग ।
सऺगठित प्रयास यदि हम करते
सम्मानित हिन्दी उड़ता फाग।

भाषाओं का स्वर्णिम भविष्य,
निर्णायक सशक्त लेखनी है ।
जनमत को बदल सके भैया ,
हिंदी की धार देखनी है ।।

विश्व हिन्दी दिवस मनेगा ,
अब अपने दम पर याद रहे ।
सऺगठित सशक्त सब हो जाएंगे ,
पथिक , कलम पर धार रहे ।।

एस आर चौहान पथिक
सीताराम चौहान पथिक

Leave a Reply

Your email address will not be published.