तपिश की अनुभूतियों के कुछ दोहे : नरेंद्र सिंह बघेल

तपिश की अनुभूतियों के कुछ दोहे : नरेंद्र सिंह बघेल सूरज की ऐसी तपिश,देखी पहली बार ।भुवन भाष्कर क्रोध में,करते यह व्यवहार ।।1।। प्रकृति के इस तंत्र को,हमने दिया निचोड़ … Read More

Vedika ke Dohe | वेदिका के दोहे

Vedika ke Dohe | वेदिका के दोहे देत सबहीं उपदेश धर्म का ,धर्म ना जाने कोय ,जस कागज का पुष्प ,इतर लगा खुश होय !!! वचन ना कड़वा देखिये ,मातपिता … Read More

पुष्पा श्रीवास्तव “शैली” के दोहे | प्रकृति हिंदीं गीत

पुष्पा श्रीवास्तव “शैली” के दोहे | प्रकृति हिंदीं गीत दोहे निमिया डोले द्वार की,कहे पते की बात। जो मुख को कडुआ करे,अंतर कर दे साफ।। गेंदा खिल हँसता कहे,मैं बासंती … Read More

Ramayani Dohe-रामायणी दोहे / सीताराम चौहान पथिक

रामायणी दोहे धोबी के सुन कटु वचन , आहत थे श्री राम । प्राण- प्रिया सीता तजी , जन – हितकारी राम ।। सिया पतिव्रता थी जदपि , अग्नि देव … Read More

Corona Se bachaav par kavita/हरिश्चन्द्र त्रिपाठी ‘हरीश’

Corona Se bachaav par kavita कोरोना से  बचाव पर कविता  मास्क लगाकर,दूरी रखिये , चाहो यदि निज खैर । अनदेखी न करना मेरा – नहीं किसी से बैर ।।1।। स्वस्थ … Read More

woman day hindi couplets-जय हिन्द काव्य धारा

woman day hindi couplets: विश्व महिला दिवस पर “जय हिन्द काव्य धारा” पटल की ओर से सभी मित्रो को हार्दिक शुभकामनाएं प्रस्तुत हैं दोहावली:- जय हिन्द काव्य धारा” पटल की … Read More

स्व गोपाल दास नीरज  कवि पर आधारित अष्ट दोहे

 गोपाल दास नीरज जी को भावांजलि ।। स्व गोपाल दास नीरज  कवि पर आधारित अष्ट दोहे नीरज-नीरज ही रहे , सदा     पंक      से दूर । मधुरिम गीतों … Read More